पत्रकारों के लिए सुरक्षा कानून अति आवश्यक: दुब्बे

  • Devendra
  • 12/01/2020
  • Comments Off on पत्रकारों के लिए सुरक्षा कानून अति आवश्यक: दुब्बे

बिजयनगर। इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट की ओर से आयोजित संभाग स्तरीय पत्रकार अधिवेशन रविवार को तीर्थ नगरी पुष्कर के ग्रीन रिसोर्ट होकरा में सुरेन्द्र चतुर्वेदी (वरिष्ठ पत्रकार) के संयोजक में आयोजित हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा मां शारदे के दीप प्रज्वलन से प्रारंभ हुआ। तत्पश्चात संस्था के प्रदेश अध्यक्ष उपेंद्र सिंह राठौड़ ने स्वागत भाषण देते हुए संस्था का परिचय एवं 13 सूत्री मांग पत्र प्रस्तुत करते हुए पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने के उद्देश्य से उक्त अधिवेशन के आयोजन की बात कही।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ पत्रकार अश्विन दुब्बे ने पत्रकारों को सुरक्षा देने की पहल करते हुए सुप्रीम कोर्ट की विभिन्न न्यायिक नजीरें प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि देश के विभिन्न प्रांतों में पत्रकारों के खिलाफ षडयंत्र में शामिल होने तथा ब्लैकमेलिंग की धाराएं लगाकर फंसाया जा रहा है, ऐसे में पत्रकारों की सुरक्षा खतरे में है। जिन्हें सुरक्षा दिया जाना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जैसलमेर में आयोजित अधिवेशन में प्रदेश अध्यक्ष उपेन्द्रसिंह राठौड़ के सानिध्य में पत्रकार सुरक्षा कानून का मसौदा तैयार किया गया है जो सभी साथियों को दिया जा रहा है। यह मांग पत्र अपने स्तर पर सभी पत्रकार अपने विधायक के माध्यम से सरकार तक भेजें। उन्होंने कहा कि आज पत्रकार हर व्यक्ति को सुरक्षा पहुंचा रहा है। समाज का हर व्यक्ति पत्रकार से उम्मीदें रखता है। गत वर्ष सुप्रीम कोर्ट के 4 न्यायाधीशों ने भी अपनी समस्या पत्रकारों के सामने रखते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। पत्रकार सबकी सुरक्षा कर रहा है लेकिन खुद सुरक्षित नहीं है। ऐसे में पत्रकारों को सुरक्षा दिया जाना अति आवश्यक है।

विशिष्ठ अतिथि दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार डीडी न्यूज के संपादक एवं सार्क देशों के चेयरमैन डॉ. ओ.पी. यादव ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि पत्रकारिता व्यवसाय नहीं है। पत्रकारिता एक विजन है, समाजसेवा का जज्बा जिसके मन में है वो ही असली पत्रकार होता है। जिस तरह से सीमा पर सैनिक रक्षा करता है उसी तरह से समाज में जागरूकता लाने का और समाज की रक्षा करने का काम पत्रकार करता है। जिसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है। सरकार को पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करना चाहिए। उन्होंनेे कहा कि आप जिस संस्था के लिए काम करते है वो आपकी मदद नही करता, कार्ड नहीं देता ऐसे में ऐसे संगठन ही है जो आपकी मदद करते है। पत्रकार सुरक्षा और अन्य उदेश्यों को लेकर संगठन द्वारा किये गए कार्यों की सराहना करते हुए प्रदेश अध्यक्ष उपेंद्र सिंह राठौड़ व पूरी टीम का आभार जताया।

कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार राजीव रंजन नाथ, हबीब अख्तर, मोहन कुमार, डॉ. धु्रव कुमार, प्रकाश पुरोहित, पूनम पांडेय आदि ने भी पत्रकार सुरक्षा लागू करने के लिए अपने-अपने तर्क प्रस्तुत किये। अधिवेशन में अजमेर सम्भाग के जिलों से लगभग तीन सौ पत्रकारों ने सहभागिता की।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar