शोर-शराबे के दौर में जीवित है अच्छा गीत संगीत- पावनी पांडे

  • Devendra
  • 15/07/2019
  • Comments Off on शोर-शराबे के दौर में जीवित है अच्छा गीत संगीत- पावनी पांडे

श्रीगंगानगर। (वार्ता) सुरीली और दिलकश आवाज का जादू बिखेरने वाली बॉलीवुड गायिका पावनी पांडे ने कहा है कि शोर-शराबे वाले इस दौर के संगीत उद्योग में अभी भी अच्छा गीत और संगीत जीवित है। श्रीगंगानगर में आज लायंस क्लब सेंट्रल द्वारा आयोजित `पावनी रूबरू’ कार्यक्रम में प्रशंसकों एवं शहर के गणमान्य नागरिकों के साथ संवाद करते हुए पावनी ने कहा कि बेशक वर्तमान दौर में गीतों के बोल संगीत के शोर-शराबे में दब जाते हैं, लेकिन अब भी कुछ गायक कलाकार हैं जिनकी गायकी से सुकून मिलता है। उन्होंने बॉलीवुड गायक अरिजीत सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें जब लोग सुनते हैं, तो लगता है कि संगीत जगत में अभी भी अच्छा गीत-संगीत बचा हुआ है।

पावनी ने कहा कि वर्तमान संगीत में गायक कलाकार की आवाज नीचे रहती है और म्यूजिक की आवाज ऊपर। 70-80 के दशक में संगीतकार और गायक कलाकार एक-एक गीत पर कई कई दिन मेहनत करते थे, लेकिन वर्तमान दौर फटाफट संगीत का है। हर किसी को जल्दी है। संगीतकार हो या गायक, बड़ी जल्दी शोहरत की बुलंदियों को छू लेना चाहते हैं। इसलिए ज्यादा जोर इस बात पर रहता है कि गीत में ऐसी क्या `हुक लाइन’ डाली जाए जिससे वह रातों-रात लोकप्रिय हो जाए। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में यह कुछ गलत नहीं है। म्यूजिक इंडस्ट्री ऐसे ही फटाफट दौर से गुजर रही है, लेकिन इन सबके बावजूद अच्छा संगीत भी सुनने को मिल जाता है। पावनी ने कहा कभी वक्त था म्यूजिक इंडस्ट्री में मांग बहुत ज्यादा थी और आपूर्ति कम थी। अब इसका बिल्कुल उलट हो गया है। अब आपूर्ति बहुत है, मांग भी बहुत है, लेकिन लोगों तक पहुंचने के कई माध्यम होने के बावजूद अच्छा संगीत हर किसी तक नहीं पहुंच रहा। बहुत से गायक अपनी गायकी से प्रभावित कर रहे हैं, लेकिन कौन कब आया और कब चला गया पता ही नहीं चलता।

नवोदित और उभरती गायक प्रतिभाओं को इंगित करते हुए पावनी ने कहा कि किसी रियलिटी शो में सफलता हासिल कर लेना ही सब कुछ नहीं है। रियलिटी शो का अपना एक महत्व है, लेकिन इससे भी ज्यादा महत्व वास्तविक जीवन में अपना काम जारी रखने का है। सफलता हासिल करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है धैर्य और रियाज पर मेहनत। संगीत उद्योग में रियलिटी शो की सफलता इतना मायने नहीं रखती जितना उनके रियाज और गायन की सभी विधाओं पर पकड़ होने की। रियलिटी शो में गायक का दिन और समय तय करता है कि वह सफल होगा या नहीं। कई बार अच्छे अच्छे कलाकार भी रियल्टी शो में सफल नहीं हो पाते, लेकिन वास्तविक जीवन में अपनी मेहनत और निरंतर रियाज के बूते पर सफलता के नए आयाम स्थापित करते हैं। उन्होंने अपना ही उदाहरण देते हुए कहा कि एक रियलिटी शो में वह सफल नहीं रही थी लेकिन कुछ वर्षों बाद उसी रियलिटी शो में उन्हें जूरी के रूप में शामिल किया गया। पावनी ने अपने बॉलीवुड और म्यूजिक इंडस्ट्री के अनुभव और याद्गार क्षणों को साझा किया।

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Skip to toolbar